Mahatma gandhi की जीवनी हिंदी में -भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महान नेता

Mahatma gandhi की जीवनी हिंदी में -भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महान नेता

Mahatma gandhi की जीवनी हिंदी में -भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महान नेता

Mahatma gandhi का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था। वे भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महान नेता थे और विश्वभर में अपने अहिंसा और सत्याग्रह के सिद्धांतों के लिए प्रसिद्ध थे। महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को पोरबंदर, गुजरात, भारत में हुआ था और उनका आत्मा-समर्पण भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के लिए एक महत्वपूर्ण योगदान था।

Mahatma gandhiका जीवन उनके विशेष ध्येय के चारों ओर घूमता था, जिनमें अहिंसा (अनभिग्रह) और सत्याग्रह (सत्य के लिए संघर्ष) महत्वपूर्ण थे। उन्होंने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम को गैर-आपातकालिक और अहिंसात्मक तरीके से ले जाने के लिए सत्याग्रह की विधि का प्रयोग किया। उन्होंने अंग्रेजी शासन के खिलाफ भारतीय जनता को जुटाने के लिए अनेक आंदोलन और धर्मनिरपेक्षता के मूल्यों की प्रोत्साहन की।

Mahatma gandhi की जीवनी हिंदी में -भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महान नेता
Mahatma gandhi की जीवनी हिंदी में -भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महान नेता

Mahatma gandhi को “बापू” के नाम से भी जाना जाता है, जो उनके आदर्शों और नेतृत्व के साथ जुड़ा हुआ है। वे भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महान नेता के रूप में याद किए जाते हैं और उनका आदर्श और दर्शन आज भी महत्वपूर्ण हैं।

Mahatma gandhi की जीवनी में उनके महत्वपूर्ण घटनाक्रम निम्नलिखित हैं:

  1. जन्म और परिवार: मोहनदास करमचंद गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को पोरबंदर, गुजरात में हुआ था। उनके पिता का नाम करमचंद था और मां का नाम पुतलीबाई था।
  2. शिक्षा: गांधी ने प्रारंभिक शिक्षा पोरबंदर और राजकोट में पूरी की, फिर विदेश में अध्ययन करने के बाद बारिश में इंग्लैंड के लंडन विश्वविद्यालय गए और वकालत की पढ़ाई की.
  3. दक्षिण अफ्रीका में सत्याग्रह: गांधी ने दक्षिण अफ्रीका में एक अधिवक्ता के रूप में काम किया, जहाँ पहले बार उन्होंने अहिंसा और सत्याग्रह के सिद्धांतों का पालन किया। वह वहाँ भारतीय समुदाय के अधिकारों की रक्षा करने में संलग्न हुए.
  4. भारत वापसी और स्वतंत्रता संग्राम: गांधी ने 1915 में भारत वापसी की और फिर वह भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के नेता बने। उन्होंने अहिंसा, सत्याग्रह, और सर्वोदय के सिद्धांतों पर आधारित स्वतंत्रता संग्राम की शुरुआत की.
  5. नमक सत्याग्रह: महात्मा गांधी ने 1930 में नमक सत्याग्रह का आयोजन किया, जिसमें वह दंडियात्रा का संचालन करके नमक की अवैध उत्पादन और बेचने के खिलाफ आंदोलन चलाए.
  6. खिलाफत आंदोलन: गांधी ने खिलाफत आंदोलन का समर्थन किया और मुस्लिम समुदाय के साथ मिलकर अंग्रेजों के खिलाफ आंदोलन चलाय.
  7. स्वतंत्रता संग्राम के नेता: Mahatma gandhi भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महत्वपूर्ण नेता रहे और उन्होंने अहिंसा, सत्याग्रह, और सादगी के सिद्धांतों का पालन किया।
  8. स्वतंत्रता प्राप्ति: उनके नेतृत्व में भारत ने 1947 में स्वतंत्रता प्राप्त की, और भारतीय गणराज्य की स्थापना हुई.
  9. गोधूलि आंदोलन: उन्होंने अपार्ठेड (रंग विभाजन) विरोध में गोधूलि आंदोलन का आयोजन किया और दक्षिण अफ्रीका में भारतीय समुदाय की अधिकारों की रक्षा की.
  10. आखिरी दिनें और शहादत: महात्मा गांधी का आखिरी आंदोलन व्यक्ति निर्माण के लिए था. उनके आखिरी दिन 30 जनवरी 1948 को एक हिंसकता ने उन्हें गोली मार दी, जिससे वे शहीद हो गए.

महात्मा गांधी को “बापू” के नाम से भी जाना जाता है, और उनका आदर्श और सत्याग्रह के सिद्धांत आज भी लोगों को प्रेरित करते हैं। उनके महान योगदान ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम को एक नई दिशा दी और उनकी आत्मा-समर्पण और सादगी का परिचय विश्वभर में हुआ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *